BJP के घोषणापत्र को सम्पन करने में जुटा पूरा मंत्रालय, 18 से 22 अप्रैल को देना होगा CM योगी को प्रस्तुतिकरण,

0
305
CM योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा बीजेपी (BJP) के होने वाले घोषणापत्र में किए गए वादों को पूरी तरह से जमीन पर उतारने के लिए एक अलग ही अनोखा प्रयोग को जल्द ही शुरू करने वाले है। उत्तर प्रदेश को विभागीय आधार पर लगभग दस अलग अलग सेक्टरों में बांट कर के सीएम योगी ने सभी विभागों के मंत्रियों और अफसरों को एक साथ और एक जुट कर दिया है। अब सीएम योगी (CM Yogi) के सामने 18 अप्रैल से लेकर के 22 अप्रैल तक सभी विभाग को एक प्रस्तुतिकरण (Presentation ) देने वाले है। वहीं कृषि सेक्टर और औद्योगिक और अवस्थापना सेक्टर के प्रेजेंटेशन को जल्द ही पूरे हो गए हैं।

सभी विभगों को 100 दिन की कार्ययोजनाएं को पूरी तरह से तैयार किया जा रहा है। इसके बाद फिर से छह माह की एक कार्ययोजनाएं को तैयार की जा सकती है। इन सभी प्रेजेंटेशन का केवल और केवल के उद्देश्य रोजगार सृजन के साथ साथ में महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना है। इन सभी दस सेक्टरों में बांटकर के अलग-अलग विभागों का प्रेजेंटेशन किया जायेगा। इसमें सभी विभागों को एक साथ में मिलकर के कार्ययोजना को अच्छी तरह से तैयार किया जा रहा है। इन सभी कार्ययोजनाएं को घोषणापत्र में किए गए सभी वादों को ध्यान में रख कर के पूरी तरह से तैयार किया जा रहा है।

18 अप्रैल से 22 अप्रैल तक किया जायेगा प्रेजेटेंशन


उत्तर प्रदेश के मुखयमंत्री योगी जी के द्वारा जल्द ही 18 अप्रैल से लेकर के 22 अप्रैल तक सभी विभागों का प्रेजेंटेशन किया जायेगा। सीएम योगी जी (CM Yogi) 18 अप्रैल को सबसे पहले सामाजिक सुरक्षा सेक्टर के अंतर्गत आने वाले सभी 7 विभागों का प्रेजेंटेशन लेंगे। उसमे समाज कल्याण, महिला कल्याण, श्रम और अल्पसंख्यक कल्याण को शामिल किया गया है। उसके बाद में 19 अप्रैल को चिकित्सा और स्वास्थ्य का प्रस्तुतीकरण किया जायेगा, इसमें कुल 5 विभागों का प्रेजेंटेशन किया जायेगा।

इसके बाद में 20 अप्रैल को ग्राम्य विकास सेक्टर का प्रस्तुतिकरण किया जायेगा। इसमें भी पांच विभाग ग्राम विकास, पंचायती राज, राजस्व का प्रेजेंटेशन किया जाना है। इसके बाद में 21 अप्रैल को नगरीय विकास सेक्टर और पर्यटन संस्कृति का प्रेजेंटेशन किया जायेगा, जिसमें नगरीय विकास सेक्टर में संस्कृति पर्यटन आवास शहरी नियोजन नगर विकास पर्यावरण विभाग को शामिल किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here