Uttarpradesh: टीचर का हुआ ट्रांसफर तो रोने लगे बच्चे, टीचर के प्रति बच्चों का प्यार देख हर कोई हैरान

0
122
Uttarpradesh

Uttarpradesh: उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh) के बलिया (Baliya) में टीचर के ट्रांसफर पर फूट-फूट कर रोने लगे बच्चे। सरकारी स्कूल का यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। दरअसल, प्राथमिक विद्यालय कलना में शिक्षक की विदाई पर हो रहे समारोह पर छोटे-छोटे मासूम बच्चे बिलक बिलक कर रोने लगे। यह भावुक नजारा को देखकर गांव के लोग भी उदास हो गए।

बच्चे अपने शिक्षक को यहां से कहीं भी जाने नहीं देना चाहते। मासूम छोटे-छोटे बच्चे उत्तरप्रदेश (Uttarpradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से दरख्वास्त कर रहे हैं कि उनके शिक्षक मनीष के ट्रांसफर को रोका जाए। यहां तक कि अपने शिक्षक को रोकने के लिए बच्चों ने विद्यालय में बने MDM का खाना तक बंद कर दिया है।

teacher

Uttarpradesh : बच्चों ने खाना तक खाना बंद कर दिया

स्कूल के प्रिंसिपल का कहना है कि बच्चों का मनीष शिक्षक से काफी अच्छा लगाव है। बच्चों को खेल-खेल में अलग ही अंदाज से पढ़ाना उनकी खासियत है। शिक्षक मनीष को रोकने के लिए बच्चों ने खाना तक खाना बंद कर दिया है।

दरअसल, पिछले 3 वर्षों से प्रभारी प्रिंसिपल पद पर कार्यरत शिक्षक मनीष का ट्रांसफर होने से उनके लिए फेयरवेल का एक छोटा सा समारोह आयोजित किया गया था। समारोह में लिखा गया कि छोटे-छोटे बच्चे बिलक बिलक कर रोने लग गए और कहने लगे, हम किसी भी कीमत पर इन्हें यहां से नहीं जाने देंगे।

Uttarpradesh : गरीब बच्चों को अपनी तनख्वाह में से पुस्तके…

स्कूल के बच्चों का कहना है कि हमें मनीष सर की बहुत याद आती है क्योंकि वह गरीब बच्चों को अपनी तनख्वाह में से पुस्तके, पेन, पेंसिल इत्यादि लाकर देते थे। और तो और वह सभी बच्चों से उनकी जरूरतों की चीजों के लिए भी पूछते थे। मनीष सर ने स्कूल की छुट्टियां होने के बावजूद भी बच्चों को स्कूल बुलाकर पढ़ाई करवाते थे। मनीष सर के पढ़ाने का तरीका ही सबसे अलग बताया जा रहा है। स्कूल के छात्र-छात्राएं उत्तरप्रदेश (Uttarpradesh) के मुख्यमंत्री से अपील कर रहे हैं कि वह हमारे शिक्षक का ट्रांसफर रोक दें।

स्कूल प्रभारी प्रिंसिपल ने बताया कि मनीष सर का ट्रांसफर अंबेडकरनगर में हुआ है। मनीष सर की असली कमाई तो इन छोटे-छोटे बच्चों का प्यार है जो कि मनीष सर के चले जाने के बाद भी बच्चे उन्हें भुला नहीं पा रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here