पाकिस्तान : प्रधानमंत्री बनते ही शाहबाद शरीफ ने दिखा दिए भारत के प्रति ये तेवर ,भाषण में नहीं दिखा रहे भारत के साथ रिश्ते सुधरने में पहल

0
546
शहबाज शरीफ

पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री चयनित होने के बाद पीएमएल के नेता शहबाज शरीफ ने वहां की नेशनल असेंबली में दिए गए अपने पहले भाषण में अपने कार्यकाल में भारत के साथ रिश्ते सुधारने की सारी संभावनाओं को नकार दिया उन्होंने ना सिर्फ कश्मीर के मुद्दे को बढ़-चढ़कर हवा दी बल्कि भारत के साथ अपने रिश्तो के भविष्य के तौर पर कश्मीर से जोड़ने की भी बात कही उन्होंने कहा कि चीन के साथ पाकिस्तान के रिश्तो को भी कयामत के तक जारी रखा जाएगा सत्ता में बदलाव के बावजूद भी दोनों के रिश्ते में कोई बदलाव नहीं आएगा।

कोरोना

पाकिस्तान अपने पहले भाषण में अपने कार्यकाल में भारत के साथ रिश्ते सुधारने की सारी संभावनाओं को नकार दिया

पीएम नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ को बधाई दी उन्होंने कहा कि भारत आतंक मुक्त क्षेत्र में शांति और स्थिरता चाहता ताकि आपने विकास चुनौतियों पर ध्यान केंद्रित कर सकें वहीं नेशनल असेंबली में शहबाज शरीफ ने चीन ,सऊदी अरब ,अफगानिस्तान, यूएई, अमेरिका ,यूरोपीय संघ के देशों के साथ अपने देश के रिश्तो का उल्लेख करने के बाद आखिर में भारत का जिक्र किया उन्होंने कहा कि पाकिस्तान पड़ोसी से रिश्ते काफी खराब रहे हैं उन्हें होते हैं लेकिन बदकिस्मती से रिश्ते खराब हैउन्होंने स्वीकार किया कि नवाज शरीफ जब भी सत्ता में होते हैं तो भारत के साथ रिश्ते सुधरते हैं इसके साथ उन्होंने यह भी याद दिलाया कि जब भारत ने 5 परमाणु विस्फोट किए तो पाकिस्तान ने 6 परमाणु विस्फोट करके भारत के दांत खट्टे कर दिए इसके बाद उन्होंने अगस्त 2019 में भारत की तरफ से कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करने का जिक्र किया और इसके खिलाफ इमरान खान के काम नहीं करने के लिए पूर्व पीएम इमरान खान को भी आड़े हाथों लिया।

कोरोना

शहबाज शरीफ ने कहा कि आज कश्मीर में रोजाना हिंदुस्तान की तरफ से कश्मीर भाइयों -बहनों का खून बहाया जा रहा है हम भारत के साथ तालुकात सुधारना चाहते हैं लेकिन यह कश्मीर में अमन शांति किए बिना और कश्मीर मुद्दे का संयुक्त राष्ट्र में वहां कश्मीरियों की इच्छा से हल निकाले बिना नहीं हो सकता पाकिस्तान के नए पीएम ने ऐलान किया है कि पाकिस्तान हर मंच पर कश्मीर का मुद्दा और कश्मीर के आवागमन उठाता रहेगा कश्मीरियों को कूटनीतिक व नैतिक समर्थन दिया जाता रहेगा वही शहबाज शरीफ के इस प्रलाप से साफ है कि भारत और पाकिस्तान के रिश्ते फरवरी 2021 से जारी सीजफायर से आगे नहीं बढ़ने वाले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here