Kanpur: पारिवारिक झगड़े को लेकर हुई फायरिंग, भाजपा पार्षद के भतीजे की गोली लगने से हुई हत्या

0
130
kanpur

Kanpur: कानपुर (Kanpur) में पारिवारिक विवाद के चलते भाई के ही दोस्तों ने मिलकर चाचा के बेटे को जान से मार दिया। कानपुर (Kanpur) के कल्याणपुर थाना क्षेत्र के मकड़ी खेड़ा में पारिवारिक रंजिश के कारण भाई अपने दर्जनों दोस्तों के साथ मिलकर चाचा के बेटे अर्जुन को गोली मारकर हत्या कर दी और सिर्फ इतना ही नहीं दोस्तों ने उसके चेहरे पर ईटों से मारकर पूरा चेहरा ही खराब कर दिया। अर्जुन के चाचा विजय निषाद भाजपा के पार्षद हैं। खबर मिलते ही मौके पर पहुंचे परिवार वालों ने अर्जुन को तुरंत ही हैलेट में भर्ती कराया। हैलेट अस्पताल में आईसीयू में चल रहे इलाज के दौरान अर्जुन ने अपने प्राण त्याग दिए।

कानपुर (Kanpur) के मकड़ी खेड़ा पावर हाउस के पास रहने वाले ई रिक्शा चालक सुनील भाजपा पार्षद विजय निषाद के भाई हैं। सुनील का अपने ही पड़ोस में रहने वाले बड़े भाई हरिश्चंद्र के परिवार के साथ काफी लंबे से अनबन चल रही थी। सुनील का बेटा कई बार बीच में आकर मामले को शांत करने की कोशिश किया करता था। इस वजह से हरिश्चंद्र का बेटा खुन्नस में आकर शुक्रवार की रात को अपने दोस्तों के साथ अर्जुन के पास चला गया।

murder

Kanpur : एक दोस्त ने अर्जुन को गोली मार दी

सुखाई पुरवा के पास होटल के पास ले जाकर विकास ने अर्जुन को घेर कर गाली देना शुरू कर दिया। विरोध करने पर विकास के साथी उस पर एक साथ हमला बोल दिया। अर्जुन ने अपने आप को किसी भी तरह से बचाकर वहां से भागने की कोशिश की, कि तभी विकास के एक दोस्त ने अर्जुन को गोली मार दी। और तो और गोली मारने के बाद विकास के दोस्तों ने ईट से अर्जुन का पूरा चेहरा भी खराब कर दिया। घायल अर्जुन पास के नाले में गिर पड़ा तो सभी को यह लगा कि अर्जुन मर गया है। उसे मरा हुआ समझकर विकास और उसके सारे दोस्त वहां से भाग निकले।

कल्याणपुर इंस्पेक्टर अजय कुमार का कहना है कि पारिवारिक रंजिश के चलते विकास ने अर्जुन का खून किया है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन अभी कर रही है।

Kanpur : दिवाली पर हुआ था विवाद

अर्जुन के परिवार वालों का कहना है कि दिवाली के वक्त विकास अपने दोस्तों के साथ घर में जुआ खेल रहा था। इस बात पर अर्जुन ने विकास को काफी समझाया। और तो और विकास के परिवार वाले आए दिन अर्जुन के परिवार के साथ झगड़ा किया करते थे। जिस वजह से झगड़ा इतना बढ़ गया था कि विकास ने अर्जुन की हत्या कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here