Unnav: उन्नाव रेप पीड़िता ने ली सुप्रीम कोर्ट की मदद, जाने क्या है पूरा मामला

0
84
Unnav

Unnav: उन्नाव (Unnav) में हुआ रेप के बाद पीड़िता ने अब सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। पीड़िता की यह मांग है कि उसके खिलाफ यूपी के ट्रायल कोर्ट में जो शिकायत दर्ज की गई है, उसे दिल्ली ट्रांसफर कर दिया जाए। दरअसल बात यह है कि एक आरोपी के पिता ने पीड़िता के खिलाफ ही मुकदमा दर्ज करा दिया है।

इसलिए पीड़िता चाहती है कि उसकी शिकायत दिल्ली ट्रांसफर कर दी जाए। पीड़िता का कहना है कि वह दिल्ली में रहती है, वह बार-बार यूपी नहीं आ सकती। यूपी ना आने के कारण उस पर गैर जमानती वारंट जारी किया जा रहा है।

सुप्रीम कोर्ट के वकील वीरेंद्र ग्रोवर जो की पीड़िता के वकील है उनका कहना है कि उनकी क्लाइंट की जान खतरे में है। वकील का कहना है कि पीड़िता के खिलाफ फर्जी केस दर्ज कर उन्हें मेंटली टॉर्चर किया जा रहा है। उनके खिलाफ उन्नाव (Unnav) में ये केस दर्ज करवाए जा रहे हैं।

Unnav

ये सब तब हो रहा है, जब वे दिल्ली के कोर्ट में अपना बयान दर्ज करवा रही है। वकील का कहना है कि उन्नाव (Unnav) में उनके क्लाइंट के जान को खतरा है। लेकिन फिर भी पीड़िता के खिलाफ काउंटर केस दर्ज करवाया जा रहा है। फिलहाल सुप्रीम कोर्ट ने यूपी पुलिस को नोटिस भेजा है और कहा है कि आगे की कार्यवाही 2 सितंबर के लिए निर्धारित कर दी गई है।

हम आपको बता दें कि इस रेप कांड में 2019 को दिल्ली कोर्ट ने बीजेपी के पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर को उम्र कैद की सजा सुना दी थी। कुलदीप सहगल पर यह आरोप था कि उन्होंने 2017 में पीड़िता के साथ रेप किया था। उस वक्त पीडिता नाबालिग थी।

Unnav

पीड़िता के साथ हुए आरोप की सजा तो दिल्ली कोर्ट ने दे दी, लेकिन एक आरोपी के पिता ने पीड़िता के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज करा दिया है। इसलिए पीड़िता को यूपी के ट्रायल कोर्ट में आने के लिए कहा जा रहा है। फिलहाल वकील द्वारा यह अपील की जा रही है कि यूपी का केस दिल्ली ट्रांसफर कर दिया जाए क्योंकि उनकी क्लाइंट की जान खतरे में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here