Gaziabad: एक और कुत्ते के काटने की घटना आई समाने, Pitbull ने काटा बच्ची का कान, मालिक ने इलाज से किया मना

0
73
Gaziabad

Gaziabad: आए दिन पिटबुल नस्ल वाले कुत्तों की खबरें सामने आ रही है। हाल ही में एक और खबर सामने आई है। यह मामला गाजियाबाद (Gaziabad) का बताया जा रहा है। घटना यह है कि एक पिटबुल कुत्ते ने 7 साल की मासूम बच्ची पर अचानक हमला कर दिया।

Gaziabad

पिटबुल कुत्ते ने मासूम बच्ची के एक कान को चबा लिया। हैरान करने वाली बात यह है कि पिटबुल के मालिक ने पहले तो कहा कि वह बच्ची का इलाज कराएगा, लेकिन अब वह अपनी बात से पीछे हट रहा है। फिलहाल अब मासूम बच्ची के पिता ने पिटबुल के मालिक के खिलाफ पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।

Gaziabad: Pitbull ने चबाया बच्ची का कान

बच्ची के पिता का कहना है कि डॉक्टरों के मुताबिक बच्ची का ऑपरेशन कराना पड़ेगा। कान के ऑपरेशन के दौरान लाखों रुपए का खर्चा हो सकता है। बच्ची के पिता का कहना है कि हम मजदूर लोग हैं, हमारे पास इतने पैसे कहां से आएंगे?

दरअसल गाजियाबाद (Gaziabad) के लोनी बॉर्डर थाना क्षेत्र के रहने वाले प्रेम कुमार की 7 साल की बच्ची पर पड़ोस के पिटबुल कुत्ते ने अचानक हमला कर दिया। ऐसा बताया जा रहा है कि बच्ची अपने घर के बाहर झूले पर झूल रही थी और अचानक कुत्ते ने आकर उसे खींच लिया और उसके कान को काट लिया। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि कुत्ता बच्ची को काफी दूर तक घसीटते हुए ले गया।

Gaziabad

बच्ची के द्वारा जोर-जोर से शोर सुनाई देने पर आसपास के लोग वहां भागे चले आए और उन्होंने देखा कि पिटबुल कुत्ते ने बच्ची को अपने जबड़े में फंसा रखा। बड़ी मुश्किल से आसपास के लोगों ने बच्ची के कान को छुड़वाया। काफी ज्यादा खून निकलने पर आसपास के लोगों ने बच्ची को अस्पताल ले जाने के लिया कहा। बच्ची के कान की स्थिति को देखकर बच्ची को गंगाराम अस्पताल में इलाज के लिए रेफर किया गया।

पिटबुल के मालिक प्रेम कुमार ने कहा था कि वह बच्ची का इलाज करवाएगा। लेकिन जैसे ही पिटबुल के मालिक को पता चला कि इसमें लाखों रुपए का खर्चा हो सकता है तो वह अपनी बात से पीछे हट गया। अपनी बात से पीछे मुकर जाने के कारण मासूम बच्ची के पिता ने पिटबुल के मालिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

Gaziabad: इलाज में लगेंगे लाखो रूपये

पीड़ित परिवार का कहना है कि पिटबुल कुत्ते ने मासूम बच्ची का कान पूरी तरह से काट खाया है और डॉक्टरों का कहना है कि बच्ची के इलाज में करीब 2 से ढाई साल का वक्त लग सकता है। इस पूरे इलाज के दौरान कम से कम 6,00,000 का खर्चा बताया जा रहा है। बच्ची के पिता का कहना है कि हम काफी गरीब परिवार के लोग हैं, हम इतना खर्चा नहीं उठा पाएंगे।

Gaziabad

इस मामले में घायल बच्ची के पिता का कहना है कि शिकायत दर्ज कराने के बाद भी लोनी थाना पुलिस की ओर से कोई एक्शन नहीं लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here