Gonda: दलित प्रेमी जोड़े की कोर्ट मैरिज को पंचायत ने किया खारिज, फिर सुनाया ऐसा दर्दनाक फैसला

0
74
Gonda

Gonda: यूपी के गोंडा (Gonda) से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। मामला यह है कि एक प्रेमी प्रेमिका ने कोर्ट मैरिज कर ली जिस वजह से गांव की पंचायत ने प्रेमी प्रेमिका को बिरादरी से बाहर करने का आदेश दे दिया है।

यहां तक कि गांव में मौजूद घर में ताला लगाकर गांव से बाहर रहने का आदेश दिया है और अगर प्रेमी प्रेमिका गांव में आ गए तो उन्हें जान से मार दिया जाएगा, ऐसा बताया जा रहा है। सिर्फ इतना ही नहीं प्रेमी प्रेमिका के वजह से घरवालों का हुक्का पानी तक बंद करने की घोषणा की है और कहा गया है कि किसी भी आमंत्रण में या त्योहार में इनके परिवार वालों को शामिल नहीं किया जाएगा।

Gonda

पीड़ित महिला का कहना है कि प्रधान प्रतिनिधि संतोष यादव ने दंपति और उसके परिवार वालों को बंदूक दिखाकर डराया धमकाया और घरवालों को ताला बंद कर दिया। दरअसल मजरे गांव के रहने वाले दलित परिवार के लड़का लड़की ने कोर्ट में जाकर शादी कर ली। यह दोनों प्रेम संबंध में थे।

इस बात के बारे में गांव प्रधान को पता चल गया। जिससे गुस्से में आकर बंदूक हाथ में लिए युवक विनेश पासवान के घर पहुंच कर उसके परिवार वालों के साथ गाली गलौज शुरू कर दी। यहां तक कि गांव में पंचायत बुलाकर घर वालों का हुक्का पानी बंद करवा दिया।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इन दोनों प्रेमी प्रेमिका ने 16 अगस्त को अपने परिवार की रजामंदी के साथ कोर्ट मैरिज की है। लेकिन ग्राम प्रधान सीता यादव और उसके बेटे संतोष यादव को यह बात पसंद नहीं आई और वह आगबबूला हो उठे। जिसके बाद पंचायत बुलाकर उन्होंने यह फैसला लिया कि अगर लड़का और लड़की इस गांव में आए तो उन्हें जान से मार दिया जाएगा।

Gonda

पीड़ित महिला का यह कहना है कि हम एक ही जाति के हैं, लेकिन हम एक परिवार के नहीं हैं। इसलिए इन्होंने परिवार की रजामंदी के साथ शादी कर ली। लेकिन दबंग प्रधान और उनके बेटे को यह बात पसंद नहीं आई।

फिलहाल यह दोनों पति-पत्नी गांव से दूर भागे हुए हैं और वीडियो बनाकर सरकार से सुरक्षा की गुहार लगा रहे हैं। पीड़ित महिला का कहना है कि उसके या उसके पति के साथ किसी भी तरह की हिंसा होती है, तो उसका पूरा जिम्मेदार प्रधान और उसके बेटे को माना जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here