Unnav: एक बार फिर वादे निकले झूठे, एम्बुलेंस ना मिलने से बीमार पत्नी को हाथगाडी पर हॉस्पिटल ले गया पति

0
499
unnav

Unnav: उन्नाव (Unnav) में एक बार फिर सरकारी सेवाओं पर सवाल खड़ा होता दिख रहा है। उन्नाव (Unnav) के पुरवा कस्बे के पश्चिम टोला में एक व्यक्ति अपनी पत्नी को हाथ गाड़ी पर बिठाकर अस्पताल ले जा रहा है। जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रही है।

पश्चिम टोला के रहने वाले राम लखन की पत्नी सुनीता की शनिवार रात अचानक तबीयत खराब हो गई। अपनी पत्नी को अस्पताल ले जाने के लिए राम लखन ने तुरंत ही एंबुलेंस सेवा 108 पर फोन किया था। राम लखन ने कई बार एंबुलेंस के लिए फोन किया लेकिन फोन लगा ही नहीं। देखते-देखते तबीयत हद से ज्यादा बिगड़ जाने के कारण वह अपनी पत्नी को हाथ गाड़ी पर लेटा कर ही अस्पताल के लिए निकल गया।

Unnav

Unnav : हाथगाड़ी पर ले गया हॉस्पिटल

ऐसी मजबूर स्थिति में राम लखन को अपनी 40 वर्षीय पत्नी सुनीता को हाथ गाड़ी में लेटा कर अस्पताल ले जाना पड़ा। अस्पताल पहुंचने के बाद राम लखन की पत्नी को स्ट्रेचर पर लेटा कर अंदर ले जाया गया है। अस्पताल में मौजूद डॉक्टर आदर्श सचान ने महिला का इलाज किया। वहीं दूसरी और राम लखन को एंबुलेंस ना मिलने के कारण अस्पताल अब प्रशासन के घेरे में आ चुका है। प्रशासन को इसकी जानकारी मिलते ही हड़बड़ी मच गई।

Unnav : एक बार फिर प्रशासन के घेरे में हॉस्पिटल

इस घटना पर उन्नाव (Unnav) सीएमओ डॉ. सत्य प्रकाश का कहना है कि जब राम लखन अपनी पत्नी को ठेले पर लेटा कर अस्पताल ले जा रहे हैं तो आसपास के लोगों को भी इंसानियत दिखाते हुए एंबुलेंस को दो-तीन बार और फोन कर लेना चाहिए था। राम लखन चाहिए तो पत्र में लिखित आगे की जांच करने के लिए आदेश दे सकते हैं। पुलिस का कहना है कि राम लखन की तहरीर मिलने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here