इतने सालो बाद केतु जा रहे है इस राशि में ,यहां जाने कोनसी राशियों की होगी बल्ले -बल्ले

0
545
केतु

ज्योतिष की श्रेष्ठतम ग्रह के केतु 18 साल बाद 12 अप्रैल को दोपहर 3:27 पर फिर से तुला राशि में प्रवेश कर रहे हैं यह पूरे साल इसी राशि पर गोचर करेंगे ग्रहो में केतु को मोक्ष का कारक माना गया है किसी भी जातक की जन्म कुंडली में यदि यह प्रभावशाली रहते थे उसके चेहरे को तेज देखने लायक होता है आज हम आपको बताते हैं कि केतु का तुला राशि में प्रवेश करने से कौन सी राशियों पर क्या फर्क पड़ेगा।

कोरोना

सालो बाद केतु जा रहे है इस राशि में

मेष राशि के दांपत्य भाव में गोचर करते हुए केतु कई तरह के अप्रत्याशित सुखद परिणाम दिलाएंगे काफी दिनों के प्रतिष्ठित कार्य संपन्न होंगे शासन सत्ता का भी पूर्ण सहयोग मिलेगा शादी -विवाह संबंधी सभी बातें सफल होगी लेकिन पार्टनरशिप के व्यापार में परेशानी आएगी काम करते हुए किसी भी योजना को गोपनीय रख्नेगे तो ही सफल होंगे किसी को भी उधार देने से बचे आर्थिक हानि के योग हैं वृषराशि से छठे शत्रु भाव में गोचर करते हुए केतु आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं हैं आपके लिए अच्छी साबित होंगे सोची समझी रणनीति कारगर साबित होगी कोई भी बड़ा काम शुरू करना हो या किसी व्यापारिक अनुबंध पर हस्ताक्षर करना हो तो उस दृष्टि से भी ग्रह गोचर अनुरोध रहेगा गुप्त शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी कोर्ट कचहरी के मामले भी आपके पक्ष में आने के संकेत हैं इस योग से विदेश यात्रा की भी योग बन रहे हैं।

कोरोना

केतु 18 साल बाद 12 अप्रैल को दोपहर 3:27 पर फिर से तुला राशि में प्रवेश कर रहे हैं

मिथुन राशि की के पंचम भाव में गोचर करते हुए केतु का प्रभाव कई तरह के सुखद परिणामों की ओर संकेत कर रहा है यह विद्यार्थी प्रतियोगिता में बैठने वाले छात्रों के लिए अच्छा साबित होगा शोध पर के आविष्कारक कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे और पूर्ण सफल रहेंगे संतान संबंधी चिंता परेशान कर सकती है बड़े भाइयों से मतभेद होने के संकेत है कर्क राशि चतुर्थ भाव में गोचर करते हुए कई तरह के उतार-चढ़ाव का सामना करवा सकते हैं यात्रा देशाटन का लाभ मिलेगा नौकरी में भी स्थान परिवर्तन के लिए प्रयास करना चाहते हैं तो यह आपके लिए अनुकूल समय है सफलताओं का सिलसिला चलता रहेगा किंतु किसी वजह से पारिवारिक कलह मानसिक अशांति का सामना करना पड़ सकता है सामान चोरी होने से बचाएं और यात्रा सावधानीपूर्वक करें।

कोरोना

सिंह राशि में गोचर करते हुए केतु साहस और पराक्रम की वर्दी करेंगे ही आपके द्वारा लिए गए निर्णय किए गए कार्यों की सराहना होगी कार्य और व्यापार में उन्नति और नौकरी में नए अनुबंध की प्राप्ति के योग बनेंगे विदेशी कंपनियों में सर्विस और नागरिकता के लिए किया गया प्रयास नौकरी प्रयास भी सफल रहेगा धर्म और अध्यात्म के प्रति रुचि बढ़ेगी सामाजिक संस्थाओं में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे और दान भी करें।

कोरोना

तुला राशि में गोचर करते हुए केतु का प्रभाव कई तरह से सुखद परिणामों का एहसास करवाएगा यह भी कहीं ना कहीं आपको मानसिक अशांति का सामना करना पड़ सकता है किंतु कार्य व्यापार की दृष्टि से यह योग अति उत्तम रहेगा अपनी रणनीतियों को गोपनीय रखते हुए कार्य को अधिक सफल रहेंगे अपने स्वभाव में क्रोध को आने से बचाएं केंद्र अथवा राज्य सरकार के विभागों में किसी भी तरह के टेंडर के लिए आवेदन करना चाह रहे हैं तो उस दृष्टि से केतु उत्तम फल देगा ,धनु राशि इस एकादश लाभ भाव में गोचर करते हुए केतु का प्रभाव अति सुखद परिणाम दिलाने वाला सिद्ध होगा विद्यार्थियों एवं प्रतियोगिता में बैठने वाले छात्रों के लिए यह किसी वरदान से कम नहीं होगा किसी भी प्रतियोगिता में बैठने चाहे तो उसका अनुकूल रहेगा प्रेम संबंधी मामलों में यह थोड़ी सी उदासीनता दे सकता है धार्मिक तथा मांगलिक कार्यो में अधिक खर्च होंगे कुंभ राशि से नवम भाग्य भाव में गोचर करते हैं केतु का प्रभाव आपकी भाग्य वर्दी कराएगा धर्म और अध्यात्म के प्रति आपकी रूचि बढेगी विदेशी कंपनियों में सर्विस और नागरिकता के लिए किया गया प्रयास भी सफल रहेगा और अपने कार्य कुशलता में साहस के बल पर कठिन परिस्थितियों पर भी आप आसानी से निर्णय नियंत्रण पा लेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here