Firozabad: पूरी रात ड्यूटी करने के बाद खाने को लेकर फूटा सिपाही का गुस्सा, रो-रोकर कर रहा खराब खाना देने की शिकायत

0
108
Firozabad

Firozabad: इंसानियत को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया है। कई घंटों तक ड्यूटी करने के बावजूद भी वक्त पर सही खाना नहीं मिल रहा। इस बात पर एक कॉन्स्टेबल ने अपने उच्च अधिकारी से कुछ वार्तालाप की है। पुलिस कांस्टेबल मनोज कुमार ने कहा कि उनकी पीड़ा को सुनने वाला कोई भी नहीं है। यदि उनके कैप्टन साहब उनकी पीड़ा को समझ पाते तो, फूट फूट कर कॉन्स्टेबल मनोज कुमार नहीं रोते।

Firozabad: फिरोजाबाद का है मामला

यह खबर उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद (Firozabad) की है। पुलिस मेश में खाने की क्वालिटी को लेकर बुधवार के दिन कॉन्स्टेबल मनोज कुमार ने अपना दुखड़ा सुनाया, जिसे पुलिस वाले भी देखते रह गए। कांस्टेबल मनोज कुमार का कहना है कि यहां पर उनकी परेशानी को सुनने वाला कोई भी नहीं है। और तो और मनोज कॉन्स्टेबल को उनकी नौकरी से हटा देने की धमकी तक दी गई है। कॉन्स्टेबल मनोज कुमार का कहना है कि उनकी परेशानी को समझाइए और कोई तो बड़ा सा बड़ा कदम उठाइए।

Firozabad

Firozabad: खाने की क्वालिटी से है दुखी

कांस्टेबल मनोज कुमार अलीगढ़ के रहने वाले हैं। और इस वक्त फिरोजाबाद (Firozabad) कोर्ट में उनकी ड्यूटी चल रही है। मीडिया रिपोर्टर से बात करते हुए कॉन्स्टेबल मनोज कुमार ने बताया कि यहां पर खाना बहुत ही बुरी क्वालिटी का दिया जा रहा है। इसलिए वह मीडिया रिपोर्टर के बीच में थाली लेकर आए हैं। कॉन्स्टेबल मनोज कुमार का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस अधिकारियों को सही क्वालिटी का खाना देने का आश्वासन दिया था। लेकिन इस तरह का खाना दिया जा रहा है, जिसमें खाने जैसा कुछ नहीं है। दाल में सिर्फ पानी नजर आ रहा है, वहीं दूसरी और आप देख सकते हैं कि इस तरह की रोटी दी जा रही है, जो कि खाई तक नहीं जाती। पुलिस कांस्टेबल मनोज कुमार का कहना है कि जब उन्होंने मेश में कंप्लेंट की तो उन्हें ही बल्कि नौकरी से निकाल देने की धमकी सामने से मिलने लगी।

Firozabad: रिपोर्टर को दिखाया थाली में खराब खाना

फिरोजाबाद (Firozabad) कोर्ट में ड्यूटी कर रहे कॉन्स्टेबल का कहना है कि पुलिस मेश में बहुत ही बुरी क्वालिटी का खाना दिया जाता है। देखा जाए तो कच्ची रोटी, दाल में सिर्फ पानी इस तरह का खाना हम जैसे लोगों को दिया जाता है। अपनी इन परेशानियों को लेकर अधिकारियों से भी बात की गई है। पुलिस अधीक्षक को भी अपनी परेशानी के बारे में बताया गया है, लेकिन किसी ने भी कोई एक्शन नहीं लिया है। इसलिए अब परेशान होकर कॉन्स्टेबल ने खुद ही वीडियो जारी कर सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया है।

Firozabad: हैरान करने वाला है ये वाकया

हैरान कर देने वाली बात तो यह है कि जब कॉन्स्टेबल मीडिया से बात कर रहे थे। तब सिविल लाइन चौकी के सिपाही उन्हें जबरदस्ती पकड़कर गाड़ी में बिठा ले गए। वहीं दूसरी ओर मेश के खाने की गुणवत्ता से संबंधित कॉन्स्टेबल का वीडियो सामने आने पर फिरोजाबाद (Firozabad) पुलिस ने सीओ सिटी को फूड क्वॉलिटी की जांच करने को कहा है। फिरोजाबाद के पुलिस अधिकारियों ने कांस्टेबल मनोज के बारे में यह लिखा है कि उस व्यक्ति को अनुशासनहीनता करने के कारण कई बार सजा भी दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here