Jhansi: झांसी (Jhansi) शहर के कैलाश रेजीडेंसी की रहने वाली प्रीति अग्रवाल ने एक नया रिकॉर्ड कायम किया है। प्रीति अग्रवाल ने चावल के दानों पर पूरी की पूरी सुंदरकांड लिख दी है। प्रीति ने कुल 7675 चावल के दानों को लेकर के सुंदरकांड का लेखन कर यह रिकॉर्ड बनाया है। इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में प्रीति अग्रवाल का यह नया रिकॉर्ड दर्ज किया गया है।

Jhansi

Jhansi: चावल के दानों से लिखा सुंदरकांड

झांसी (Jhansi) निवासी प्रीति अग्रवाल का कहना है कि चावल के दानों पर सुंदरकांड लिखने के लिए इन्हें करीब 2 महीने का वक्त लगा है। प्रीति इससे भी पहले चावल पर गायत्री मंत्र और हनुमान चालीसा लिख चुकी है। प्रीति अग्रवाल ने चावल के दानों पर हनुमान चालीसा लिखकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कुछ समय पहले भेंट भी किया था। योगी आदित्यनाथ ने प्रीति के इस प्रयास के लिए उसकी जमकर तारीफ भी की थी।

Jhansi: किया है ये कारनामा भी

झांसी (Jhansi) की रहने वाली प्रीति का कहना है कि वह हर साल शंकर भगवान की मूर्ति पर बेलपत्र पर ओम नमः शिवाय लिखकर चढ़ाते हुए देखा करती थी। इसलिए उसने सोचा कि चावल के ऊपर क्यों ना ओम नमः शिवाय लिखकर चढ़ाया जाए।

इसलिए प्रीति अग्रवाल को यह अनोखे तरीके से लिखने की एक आदत सी पड़ गई है। प्रीति अग्रवाल का कहना है कि वह साधारण पेन से ही चावल पर लिखती हैं और इन दानों को साधारण गोंद से एक साथ क्रमबद्ध रूप से चिपकाया गया है।

Jhansi: प्रीति ने जताई पीएम मोदी से मिलने की इच्छा

प्रीति से बातचीत करते हुए उन्होंने बताया कि जैसे भगवान श्री रामचंद्र के भक्त हनुमान जी हैं। वैसे ही प्रधानमंत्री मोदी से बढ़कर देशभक्त कोई नहीं है। प्रीति का कहना है कि उनके इस अनोखे रिकॉर्ड के कारण क्या पता वह कभी भविष्य में मोदी जी से मिल पाए। प्रीति को चावल पर सुंदरकांड लिखने में करीब 2 महीने का वक्त लग गया। प्रीति दिन में दो से तीन घंटा इस काम को देती है। जब प्रीति चावल पर सुंदरकांड लिखने का कार्य शुरू करती है, तब वह सुंदरकांड सुनती भी रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *