Kanpur: ठेकेदार को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया, इलाज के दौरान मौत, बिल्डर गिरफ्तार

0
95
Kanpur

Kanpur: कानपुर (Kanpur) के श्याम नगर से खौफनाक मंजर सामने आया है। बुधवार की दोपहर को एक बिल्डर ने ठेकेदार को अपने घर के अंदर बुला कर उसे जिंदा जला दिया। ठेकेदार करीब 4 घंटे तक अपनी जिंदगी के लिए लड़ता रहा लेकिन इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। पुलिस ने बिल्डर को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की छानबीन से यह पता चला है कि 18 लाख रुपए की लेनदेन के कारण इन दोनों मे विवाद चल रहा था जिस वजह से बिल्डर ने ठेकेदार की जान ले ली। मौका ए वारदात पर मौजूद लोगों से पुलिस अभी पूछताछ कर रही है ताकि जितना ज्यादा हो सके उतने सबूत इकट्ठा कर पाए।

कानपुर (Kanpur) के लाल बंगला एनटू रोड स्थित एमईएस कालोनी में राजेंद्र पाल अपने पूरे परिवार के साथ रहता था। मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस में राजेंद्र पाल के बेटे अरविंद और पत्नी मीना कुमारी ने बताया कि राजेंद्र ठेकेदार का भी काम करता था। परिवार वालों ने बताया कि राजेंद्र काफी लंबे समय से श्याम नगर डी ब्लॉक के रहने वाले बिल्डर शैलेंद्र श्रीवास्तव के साथ काम करते थे। घरवालों का कहना है कि राजेंद्र पाल को बिल्डर शैलेंद्र श्रीवास्तव से 18 लाख रुपए लेने थे। इन 18 लाख के लेनदेन को लेकर इन दोनों में करीब 3 साल से विवाद भी चल रहा था। इस विवाद के चलते राजेंद्र ने बिल्डर के साथ काम करना बंद कर दिया।

thekedar

Kanpur : छानबीन अभी पुलिस कर रही है

परिवार वालों ने पुलिस को बताया कि राजेंद्र बुधवार को करीब 10:00 बजे के आसपास अपने घर से निकल गया था। और तो और घर वालों को करीब 12:30 बजे तक इस घटना के बारे में पता चला। परिजन और पुलिस तुरंत ही बिल्डर के ऑफिस पहुंचकर राजेंद्र को अस्पताल ले गए। देखते ही देखते शाम के 4:30 बजे के आसपास राजेंद्र ने अपने प्राण त्याग दिए। पुलिस ने तुरंत ही बिल्डर को हिरासत में ले लिया है। इस वारदात में बिल्डर के साथ और कोई मिला हुआ है कि नहीं इसकी छानबीन अभी पुलिस कर रही है।

डीएसपी पूर्वी प्रमोद का कहना है कि यह पूरी घटना शैलेंद्र के घर में हुई है। घर के अंदर किसी भी प्रकार का सीसीटीवी कैमरा नहीं है। पूर्वी प्रमोद का कहना है कि जब राजेंद्र घर में आया तब सभी घरवाले किसी दूसरे कमरे में थे और शैलेंद्र पूजा घर में पूजा कर रहा था। शैलेंद्र को अचानक से चीखने चिल्लाने की आवाज आई तो सभी लोग उस आग को बुझाने की कोशिश करने लगे। और तो और शैलेंद्र ने ही पुलिस को भी बुलाया।

Kanpur : लेबर ठेकेदार थे राजेंद्र कर्जे से डूबे हुए

राजेंद्र के परिवार में उनकी पत्नी मीना और उनका बेटा अरविंद है, इनकी एक बेटी पुष्पा की शादी हो चुकी है। डीएसपी ने बताया कि राजेंद्र लेबर ठेकेदार था। राजेंद्र, शैलेंद्र की साइट पर काम किया करता था। साइट पर राजेंद्र के ही लेबर आया करते थे। परिवार वालों का यह कहना है कि शैलेंद्र ने अभी तक राजेंद्र को पैसे दिए नहीं थे। शैलेंद्र के पैसे ना देने के कारण राजेंद्र कर्जे में डूब रहा था जिस वजह से वह काफी चिंता में भी रहता था।

आरोपी शैलेंद्र को कानपुर (Kanpur) पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और पूरे मामले की छानबीन की जा रही है। तहकीकात से यह पता चल रहा है कि यह घटना लेनदेन के कारण हुई है। तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here