Lucknow: लखनऊ के डॉक्टर से जेल से मांगी फिरौती, चिठ्ठी में कारतूस भेजकर मांगे लाखों रूपये

0
95
kartoos

Lucknow: लखनऊ (Lucknow) में बदमाश खुलेआम धमकी भरे पत्र लिखकर कर रहे हैं वसूली। ऐसा ही एक मामला सामने आया है। केसरबाग स्थित बर्लिंग्टन क्लीनिक पर कुरियर से 12 बोर का जिंदा कारतूस भेजकर 5 लाख रुपए की नकद रकम मांगी है। डॉक्टर सारांश जैन ने मंगलवार को पुलिस थाने जाकर एफआईआर करवाई है। उन्होंने बताया कि उन्हें एक धमकी भरा पत्र आया है। हैरान कर देने वाली बात यह है कि आज से कुछ दिन पहले कृष्णा नगर में आर के ज्वेलर्स के मालिक को भी जिंदा कारतूस भेजकर जेल में 5 लाख रुपए पहुंचाने की धमकी दी गई थी। इन दोनों व्यक्तियों को पत्र भेजने वाले इंसान का नाम विजय जायसवाल बताया जा रहा है।

Lucknow

Lucknow : 1 शीशी के अंदर कारतूस और एक पत्र मिला

हमारी जानकारी के मुताबिक लखनऊ (Lucknow) के बर्लिंग्टन चौराहे पर डॉ. एसके जैन का क्लीनिक है। उनके बेटे सारांश का कहना है कि 19 तारीख को उनको एक कोरियर आया था। उस कुरियर में 1 शीशी के अंदर कारतूस और एक पत्र मिला। पत्र में धमकी देकर लिखा गया था कि हमने सुना है कि तुम बहुत पैसा कमा रहे हो और लिखा था कि 2-5 लाख रुपए सीधा जेल में पहुंचा दो।

और तो और कहा गया था कि अगर तुम ने पुलिस को बताने की कोशिश की तो इस कारतूस का हमें इस्तेमाल करना पड़ जाएगा। इंस्पेक्टर केसरबाग अजय नारायण ने बताया कि जो कुरियर सारांश को भेजा गया है, उस पर प्रेषक के तौर पर विजय जयसवाल निवासी जिला जेल लिखा गया है।

लखनऊ (Lucknow) पुलिस का कहना है कि इससे पहले भी कृष्णा नगर में एक सर्राफा कारोबारी को 12 बोर कारतूस कुरियर के द्वारा भेजा गया था और साथ में एक धमकी भरी चिट्ठी भी थी। चिट्ठी में लिखा गया था कि तुम कमाते बहुत हो मुझ पर भी ध्यान देना पड़ेगा और 5 लाख रुपए की रकम मांगी गई थी। इस चिट्ठी के ऊपर भी विजय जायसवाल नाम लिखा हुआ था

Lucknow : विजय बोला, मैंने किसी को नहीं दी धमकी

आर के ज्वेलर्स के मालिक को धमकी भरी चिट्ठी के मिलने के बाद विजय जायसवाल को पता चला कि उसके नाम द्वारा चिट्ठी भेजी गई है, तो उसने तुरंत ही पुलिस को बताया कि मैंने ऐसी कोई चिट्ठी नहीं भेजी है। विजय जायसवाल ने पुलिस को बताया कि वह 2 जून को जमानत के तौर पर 2 दिन के लिए बाहर आया था। जमानत मिलने के बाद से वह अपनी बहन के घर पर रह रहा है। विजय जायसवाल का कहना है कि उसने किसी को भी धमकी भरे पत्र नहीं भेजें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here