Uttarpradesh: सरकारी नौकरी के लिए पास की दो बार हाईस्कूल की परीक्षा, सच सामने आते ही सिपाही बर्खास्त

0
113
uttarpradesh

Uttarpradesh: सरकारी नौकरी की चाहत में धोखाधड़ी का एक मामला सामने आया है। उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh) के देवरिया (Devriya) जिले के गौरी बाजार थाने में एक सिपाही फर्जी जन्म पत्रिका लगाकर नौकरी कर रहा था। जांच होने पर सिपाही के ऊपर धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है। सिपाही ने दो बार अलग-अलग जन्म तिथि दिखाकर हाई स्कूल की परीक्षा पास कर धोखाधड़ी की है।

इस पूरे मामले में सिविल लाइन पुलिस चौकी के अधिकारी ने पुलिस कर्मचारी के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है। एसपी ने तुरंत ही आरोपी को नौकरी से बर्खास्त कर दिया।

farji

Uttarpradesh : अरविंद सिंह कुशवाहा 2018 में सिपाही पद पर नियुक्त हो गए थे

हैरान करने वाली बात यह है कि गाजीपुर जिले के महमूदाबाद थाना क्षेत्र के आदिलाबाद गांव के रहने वाले अरविंद सिंह कुशवाहा 2018 में सिपाही पद पर नियुक्त हो गए थे। अरविंद सिंह कुशवाहा ने 2011 में हाई स्कूल की एग्जाम पास कर ली थी। जिसमें उनकी जन्म तारीख 2 मई1997 है। बाद ने उन्होंने दोबारा देवर्षि देवल माता रहसी देवी भृगुनाथ उ.मा.पंडित मरदह गाजीपुर से हाईस्कूल पास किया, जिसमें जन्मतिथि 22 जून 1997 दर्ज है।

पुलिस विभाग की भर्ती में 2012 के हाई स्कूल रिजल्ट लगाए गए। इसकी शिकायत पुलिस विभाग में किसी गुमनाम व्यक्ति ने की थी। एसपी के निर्देश पर एडिशनल एसपी राजेश सोनकर ने पूरे मामले की जांच की तो दो बार हाईस्कूल अलग-अलग जन्मतिथि में करने की बात का पता चला। इसके बाद सदर कोतवाली में आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है। और तो और आरोपी सिपाही को तुरंत ही सस्पेंड भी कर दिया गया है।

Uttarpradesh : चार्जशीट फाइल की गई

एसपी संकल्पुर शर्मा का कहना है कि गौरी बाजार थाने में नियुक्त 2018 बैच के कॉन्स्टेबल अरविंद सिंह कुशवाहा के खिलाफ कंप्लेंट चार्जशीट फाइल की गई है। अरविंद सिंह ने फर्जी जन्म प्रमाण पत्र की मदद से सरकारी नौकरी प्राप्त की है। एडिशनल एसपी द्वारा पूरे मामले की जांच कराई जा रही है। उन्होंने तत्काल प्रभाव से पूरे डिपार्टमेंट की इंक्वायरी करनी शुरू कर दी है। जो भी आरोपी पाया जाएगा उसे तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here