Kannauj: उत्तर प्रदेश के कन्नौज (Kannauj) जिले में स्थित मंदिर के अंदर मांस फेंकने का मामला सामने आया है। फिलहाल पुलिस ने मुख्य आरोपी को अपने हिरासत में ले लिया है। पुलिस के द्वारा यह अनुमान लगाया जा रहा है कि एसएचओ को पद से हटाने के लिए यह साजिश रची गई थी। इस घटना को अंजाम देने के लिए एक कसाई को 10 हजार रुपए भी दिए गए हैं।

Kannauj

Kannauj: SHO के खिलाफ रची साजिश

एसपी कुंवर अनुपम सिंह के हिसाब से मुख्य आरोपी चंचल तिवारी की थानाध्यक्ष हरी श्याम सिंह से कुछ अन-बन थी। इसलिए चंचल तिवारी कन्नौज (Kannauj) के थाना अध्यक्ष को उनके पद से हटाना चाहते थे। इसलिए चंचल तिवारी ने सांप्रदायिक उपद्रव कराने की साजिश रची। और तो और एक पेशेवर कसाई को 10 हजार रुपये देकर शिव मंदिर में पशुओं का मांस रखने के लिए कहा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कन्नौज (Kannauj) जिले में तालग्राम थाना इलाके के गांव रसूलाबाद में बने एक मंदिर में 16 जुलाई के दूसरे धर्मों के लोगों ने गाय की बछिया का सिर काट कर हवन कुंड के पास फेंक दिया था। मंदिर के अंदर मांस का टुकड़ा फेंके जाने के कारण काफी बड़ा विरोध हुआ था। विरोध के चलते घटनास्थल से कुछ दूरी पर मांस की तीन दुकानों को आग भी लगा दी गई थी।

पुलिस प्रशासन जब तक इस मामले को शांत कर पाती, तब तक काफी देर हो गई थी। इस घटना का विरोध करने के लिए हिंदू समाज में काफी बड़ा प्रदर्शन भी किया था। पुलिस ने इस घटना में करीब 17 लोगों को हिरासत में भी लिया था।

Kannauj: कसाई को किया गिरफ्तार

कन्नौज (Kannauj) पुलिस का कहना है कि मशहूर कसाई की गिरफ्तारी के बाद उसने सारा मामला सामने रख दिया। कसाई ने अपने बयान में बताया कि रनवा गांव के रहने वाले चंचल तिवारी की तालग्राम के थाना प्रभारी हरी श्याम सिंह से अनबन हो गई थी। चंचल तिवारी चाहता था कि थाना प्रभारी को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए। इसलिए उसने कसाई को मंदिर के अंदर मांस रखने के लिए कहा। पुलिस ने आरोपी के पास से तीन छुरी, एक गड़ासा, एक कुल्हाड़ी बरामद की।

Kannauj: थाना अध्यक्ष का किया तबादला

लेकिन हैरान कर देने वाली बात यह है कि यूपी सरकार ने कड़ी कार्यवाही करते हुए तत्कालीन डीएम राकेश कुमार मिश्रा और एसपी राजेश श्रीवास्तव समेत तालग्राम थाना प्रभारी हरी श्याम सिंह का ट्रांसफर कहीं और कर दिया है। और तो और कन्नौज (Kannauj) क्षेत्र का नया डीएम शुभ्रांत कुमार शुक्ला को बनाया है, जो पहले चित्रकूट के जिलाधिकारी थे। और तो और इसके साथ और भी तबादले हुए हैं। जैसे कि तालग्राम के प्रभारी निरीक्षक हरिप्रसाद को निलंबित कर उनकी जगह जितेंद्र सिंह को थाना प्रभारी बनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *